EVM is vulnerable वोटिंग मशीन में छेडछाड संभव है।

26 Nov 2010



































































































































video
भारत में चुनाव के लिये तकरीबन बीस वर्षो से मतदान के लिये वोटिंग मशीन का प्रयोग शुरु किया गया है। बहुत हीं सुरक्षित होने का दावा के वावजूद वोटिंग मशीन में सामान्य सुरक्षा के भी ईन्तजाम नही है। मात्र २००-४०० रुपये के बहुत ही छोटा सा एक पार्ट लगाकर ब्लु टुथ टेक्नोलोजी के माध्यम से मोबाईल फोन द्वरा ई वी एम को नियंत्रित किया जा सकता है और उसके नतीजे को प्रभावित किया जा सकता है। ईस विडिओ में दिखाया गया है की कैसे छेडछाड की जा सकती ह्सि.
Share this article on :

0 टिप्पणियाँ:

 
© Copyright 2010-2011 आओ बातें करें All Rights Reserved.
Template Design by Sakshatkar.com | Published by Biharmedia.com | Powered by Sakshatkartv.com.