आओ बातें करें: युवराज कुछ तो शर्म करो

5 Dec 2010


आओ बातें करें: युवराज कुछ तो शर्म करो: "युवराज कुछ तो शर्म करो डिवाईन स्माईल से युवा- युवतियों को मोहित करनेवाले और कलावती की दर्द भरी दास्तां को संसद में बयां कर अपने दल के चम्मचे सांसदो की वाहवाही लूटने वाले युवराज खामोश क्यों हो। आपकी तरह हीं मनमोहक मुस्कान वाले आपके प्यारे मनमोहन सिंह और उनके मंत्रीमंडल की करतुत देखने के बाद भी मुस्कुरा रहे हो युवराज । बडी हीं रहस्मयी है , आपकी मुस्कान । ठीक  मोनालिसा की तरह । आप तो सांसद भी हो । फ़िर भी खामोश । जे पी सी से कुछ होना जाना नही। आपकी पार्टी ने तो कमा लिया रह गये विपक्ष वाले । अब उनको भी तो हिस्सा चाहिये । हिस्सा तो तभी मिलेगा , जब जे पी सी का गठन होगा । युवराज ्शायद आप इस लिये मुस्कुरा रहे की जानते हो कुछ होने वाला तो है नही । जब बोफ़ोर्स में नही हुआ तो २ जी, आदर्श  और कामनवेल्थ में क्या होगा । युवराज आपके मनमोहन सिंह और उनके मंत्रीमंडल की जगह वस्तुत: जेल है। पहले पुरे मंत्रीमंडल को भेजो जेल। और जनता की एक समिती बनओ , जो सी बी आई के जांच की निगरानी करे। यह मत समझना की जनता मुर्ख है । सदाम की मुर्तियों को लात - जुतों से मार-मार कर इराक की जनता ने गिराया था । याद है न। कहीं ऐसा न हो की भारत की जनता भी उसी कदम पर चल पडे । मौका है । गलती से सबक ले लो वरना पतली गली से भागना पडेगा । बाकी बाते बाद में।
Share this article on :

3 टिप्पणियाँ:

अरूण साथी said...

जब तक वेशर्म जनता इसे वोट देगी तब तक इसे शर्म कहां..

Fauziya Reyaz said...

bahut hi achhaa satire...bahut khoob

दीपक बाबा said...

सही फरमाया पंडित जी, लेकिन एक बात तो है अगर राजमाता और युवराज अपने सारे गिरोह के साथ जेल में आ जाए तो .... मेरे ख्याल से जेल कम पड़ेगी......

बिचारे कैदियों का क्या होगा?

 
© Copyright 2010-2011 आओ बातें करें All Rights Reserved.
Template Design by Sakshatkar.com | Published by Biharmedia.com | Powered by Sakshatkartv.com.